Thursday, July 5, 2007

कृष्ण कुमार मिश्र


5 comments:

Udan Tashtari said...

मेरे मानस पटल पर कुछ और ही चित्रांकित कर दिया और वह मैं आप सब को बडे इत्मिनान से सुनना चाहता हूँ-

---ऐसा आपने मई १० को कहा था..अब लगने लगा है कि वाकई बडे इत्मिनान से सुनाओगे. खैर, जब पूरे से इत्मिनान लग जाये तो बताना. हम बैठे हैं इन्तजार में :)

My Diary said...

उदन जी आप उदिग्न ना हो बहुत सरे काम बाकी है सो मै आप को गदर की कहानी बुजर्गो की जबनी नही सुना पा रहा हू इस लिये माफ़ी चाहता हू जल्दी ही ..............

Shrish said...

अच्छा लगा आपकी फोटो देखकर।

My Autobiography said...

श्रीश जी आप बताये कि हिन्दी रैटर बारहा व इन्दिक आई एम ई मे से बेह्तर कौन सा है हिन्दी टाईपिन्ग मे सुधार लाने के लिये क्या करे

Imran ahmad "ajnabi" said...

Very good try to save wild life u've got my full support and blessings for all this
god bless u
regards
Imran Ahmad